ड्रग्स सिंडिकेट पर वार,तोड़ेगा आतंकवाद और मानव तस्करी के तार--ज्योति बाबा




*रवीन्द्र त्रिपाठी इंकलाब न्यूज*

 कानपुर 15 सितंबर l सेलिब्रिटी और ड्रग्स के बीच संबंध सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में बड़ी चिंता का विषय बन चुके हैं क्योंकि सेलिब्रिटी के ड्रग्स का सेवनकरता बनने के चलते उसके करोड़ेl प्रशंसक भी नकल करते हैं परिणाम स्वरूप एक बड़े नशेड़ीयों की फौज सिर्फ पीड़ा देने के लिए खड़ी हो जाती है उपरोक्त बात सोसायटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में नशा हटाओ कोरोना मिटाओ हरियाली बढ़ाओ अभियान के तहत आयोजित वर्चुअल संगोष्ठी शीर्षक क्या युवाओं को ड्रग्स फेर में लाती है फिल्म इंडस्ट्री पर मुख्य वक्ता के रूप में अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरू ज्योति बाबा ने कही,श्री ज्योति बाबा ने कहा कि बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड के विश्व विख्यात कलाकार जैसे माइकल जैक्सन व्हिटनी हॉस्टन लिल पीप जैसे अन्य कलाकारों की मौत ड्रग्स ओवरडोज के कारण हुई,करीब डेढ़ दशक पूर्व एक ड्रग कंट्रोल बॉडी की कही गई बात आज सच साबित हो रही है जिसमें मशहूर हस्तियों के नशीली दवाओं के सेवन और इस बारे में अधिकारियों की लापरवाही समाज में बड़े पैमाने पर नशे को बढ़ावा दे सकती है श्री ज्योति बाबा ने बताया कि ग्लोबल बर्डन ऑफ़ डिजीज स्टडी के आंकड़ों के मुताबिक 2017 में अवैध ड्रग्स ने दुनिया भर में करीब 7.5 लाख लोगों की जान ली है अकेले भारत में ही सिर्फ मुंबई में ही 90000 करोड़ का ड्रग्स का अवैध व्यापार है जबकि उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य से शराब के वैध व्यापार के द्वारा मात्र 24000 करोड रुपए का राजस्व 1 वर्ष में प्राप्त होता है सबसे दुखद ड्रग्स के बड़े कारोबार के रूप में गोवा और पंजाब प्रमुख हब के रूप में विकसित हुए हैं आज देश में करोड़ों की संख्या में ड्रग्स सेवनकर्ता डायरेक्ट बन चुके हैं l सभी वक्ताओं ने एक स्वर में अभिनेत्री कंगना राणावत ने जो फिल्मी दुनिया के चकाचौंध के पीछे के ड्रग्स के एक बड़े साम्राज्य पर इशारा किया है उसे प्रदेश व देश की सरकारों को मिलकर भारत की युवा शक्ति को बचाने हेतु इनको बेनकाब करते हुए इनके आकाओं को जेल के  सीखचो के पीछे डाला जाए l संगोष्ठी का संचालन लिम्का बुक धारी आलोक मेहरोत्रा व धन्यवाद मानव प्रेमी राकेश चौरसिया ने दिया l अन्य प्रमुख बूंदे संस्था के राष्ट्रीय प्रमुख संजीव गुरुजी,अजय शर्मा एडवोकेट,ओम नारायण त्रिपाठी,रवि शुक्ला अमित गुप्ता,स्वामी गीता,मंजू चौरसिया इत्यादि थी l

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां