विशिष्ट पोस्ट

फर्जी पत्रकारों की आएगी शामत,जिला प्रशासन कराएगा छानबीन


रवींद्र त्रिपाठी, वतन की कसम :फतेहपुर,23 मई।कोरोना महामारी के दौरान शासन और प्रशासन से पत्रकारों को मिली छूट के दौरान आई फर्जी पत्रकारों की बाढ को शासन व प्रशासन ने गम्भीरता से लिया है। रायबरेली, ऊंचाहार,मेरठ ,नोएडा ,बुलंदशहर आदि जिलों में व्हाट्सएप के फर्जी पत्रकारों के पकड़े जाने के बाद शासन ने इसे संज्ञान में लेते हुए फर्जी पत्रकारों में नकेल कसने के लिए जिला प्रशासन को छानबीन कराने का निर्देश दिया गया है। इसी निर्देश के अनुसार अब जनपद फतेहपुर में भी पत्रकारों की छानबीन कराई जाएगी ।फर्जी पत्रकार मिलने पर उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराकर कार्रवाई की जाएगी ।
जैसा कि मालूम हो कि उपरोक्त जिलों में फर्जी पत्रकारों के पास जो प्रेस आईडी कार्ड मिले हैं। उनके संस्थान सूचना प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार से पंजीकृत नहीं है। ऐसे संस्थानों में जनपद के भी कुछ संस्थान हैं जो फर्जी तरीके से आईडी कार्ड बनाकर लोगों से उगाही कर रहे हैं।
 प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली क्राइम टीवी न्यूज़ इंडिया फतेहपुर टीवी फतेहपुर टू पीएमटी इंडिया न्यूज़ जी न्यूज चैनल 24, व जी इंडिया एक्सप्रेस नाम के कथित चैनल भारत सरकार द्वारा पंजीकृत नहीं है ।पुलिस महानिदेशक कार्यालय की मानें तो कानपुर ,उन्नाव, फतेहपुर ,कौशांबी ,इलाहाबाद, प्रतापगढ़ ,इटावा ,कन्नौज ,उरई, हमीरपुर आदि जनपदों में प्रशासन से वैध पत्रकारों की सूची बनाने का निर्देश दिया गया है। अगर पुलिस महानिदेशक कार्यालय के निर्देशों का पालन किया गया तो वह दिन दूर नहीं जब फर्जी पत्रकारों की शामत आ जाएगी।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां