होमगार्ड हत्याकांड -------------------- बेटे और बहू पुलिस के राडार पर: पोस्टमार्टम में हत्या की पुष्टि


फतेहपुर,4दिसम्बर। खून पसीना एक कर बेटे को पालने वाले
होमगार्ड की हत्या के मामले में उसके बेटे और बहू को पुलिस ने हिरासत में लिया है और पूंछताछ जारी है।
   कोतवाली बिंदकी क्षेत्र के कमरापुर गांव निवासी होमगार्ड बंसलाल पाल उर्फ बैजनाथ पाल उम्र 55 वर्ष पुत्र स्वर्गीय दुर्गा प्रसाद पाल कोतवाली बिंदकी में तैनात थे। वह प्रतिदिन की तरह सोमवार की शाम को ड्यूटी कर कोतवाली से अपने घर गए। वह अपने घर के बरामदे में सो गए। भोर पहर उनका शव संदिग्ध अवस्था में घर के बाहर पड़ा मिला तो हड़कंप मच गया। पुलिस ने होमगार्ड के शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा । देर शाम पुलिस अधीक्षक प्रशान्त वर्मा ने भी घटनास्थल पर पहुंच तहकीकात की और कोतवाल को दिशा निर्देश दिए । पोस्टमार्टम रिपोर्ट में  गला घोंट कर हत्या स्पष्ट होने के बाद पुलिस ने मनीष उर्फ मलखानऔर उसकी पत्नी को हिरासत में लेकर पूंछतांछ शुरू की तो मामला साफ हो गया।मृतक होमगार्ड के दो पुत्र अनिल पाल और मनीष उर्फ मलखान पाल हैं । अनिल पाल कोतवाली में ही चौकीदार है। जबकि मनीष उर्फ मलखान अपने घर में रहकर खेती का काम करता है। मृतक होमगार्ड अपने बड़े पुत्र अनिल पाल के साथ घर में रहता है जबकि मलखान अपने परिवार के साथ बगल में ही अलग मकान में रह रहा है मृतक के पुत्र अनिल कुमार के अनुसार उसके पिता के शव पर चोट के निशान थे जिससे हत्या किए जाने की आशंका पहले से ही  प्रतीत हो रही थी । फिलहाल पूरे मामले की जांच की जा रही है और साक्ष्य एकत्र किए जा रहें हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां