दबंगो ने खागा अस्पताल में मचाया उत्पातः कर्मचारियों ने की सेवाएं ठप


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खागा में डाक्टरों से जानकारी लेते पुलिस इंस्पेक्टर

फतेहपुर, 02 दिसम्बर। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खागा में दबंगों द्वारा सोमवार को की गई तोड़फोड़,कर्मचारियों, मरीजों व तीमारदारों के साथ हुई मारपीट को लेकर अस्पताल के कर्मचारियों ने कामकाज बंद कर दिया। पुलिस ने डॉक्टरों की तहरीर  पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करके जांच शुरू कर दी है।
 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खागा के डॉक्टर राकेश कुमार सहित दो दर्जन से ज्यादा कर्मचारियों की ओर से दी गई तहरीर में बताया गया है कि जब डॉक्टर राकेश कुमार और फार्मेसिस्ट एसपी सिंह  हरदोई गांव निवासी यश पुत्र  रावेंद्र कुमार  का इलाज कर रहे थे जो पैर फिसलने से छत से गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसी दौरान सोमवार की सुबह लगभग 8:15 बजे कुछ लोग अस्पताल आए और वार्ड में भर्ती मरीजों व उनके तीमारदारों के साथ गाली-गलौच, मारपीट, व तोड़फोड़ करने लगे तो डॉक्टरों व कर्मचारियों ने इसका विरोध किया तो वह उन लोगों के साथ भी अभद्रता पर उतर आए। दबंगों द्वारा की जा रही मारपीट की सूचना 112 नंबर पर दी गई। जिसके आने से पहले सभी दबंग फरार हो गए। तहरीर में यह भी बताया गया है कि जो दबंग आए थे उनकी गाड़ी का नंबर यूपी 71 एएल, 0 017 है। यसएचओ खागा ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर राकेश कुमार व अन्य कर्मचारियों द्वारा हस्ताक्षरित तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है और अस्पताल में गुंडागर्दी करने वाले लोगों के खिलाफ कार्यवाही शुरू करगई दी है।एसएचओ का यह भी कहना है कि अस्पताल की सुरक्षा के लिए हल्का सिपाहियों को लगा दिया गया है। मालूम हो कि जो गाड़ी नंबर तहरीर में दिखाई गई  है उस गाड़ी का मालिक रूद्र  प्रताप सिंह फतेहपुर बताया जाता है। अस्पताल के मरीजों ने बताया जो शरारती तत्व सुबह आए थे वह कह रहे थे कि  उन्होंने एंबुलेंस 108 को कई बार फोन लगाया किंतु फोन नहीं लगा । जिससे मरीज को लाने के लिए एंबुलेंस नहीं उपलब्ध हो पाई और इसी बात को लेकर झगड़ा फसाद करने लगे।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां