फतेहपुर के सभी विकास खण्ड़ मुख्यालयों में होगी किसान गोष्ठी


फतेहपुर, 08  नवम्बर।

जिलाधिकारी ने जनपद के सभी विकास खंडों में किसान गोष्ठी आयोजन का निर्देश दिया है।

    जिलाधिकारी संजीव सिंह ने उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी फतेहपुर ,बिंदकी एवं खागा तथा समस्त खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि विकास खंड स्तरीय रबी गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेले का आयोजन -
9  नवम्बर  को विकास खंड अमौली, 11 नवम्बर को विकास खंड असोथर एवं विजयीपुर में, 13 नवम्बर     को विकास खंड ऐरायां एवं हसवा में, 14 नवम्बर  को विकास खंड धाता एवं भिटौरा में, 16 नवम्बर  को विकास खंड देवमयी, बहुआ एवं हथगाम में,  विकास खंड मलवां एवं 22 नवंबर को विकास खंड खजुहा के परिसर में आयोजन किया जाएगा।

 उन्होंने बताया कि विकासखंड स्तरीय कृषि निवेश मेला में कृषि विभाग के तहसील स्तरीय एवं विकास खंड स्तरीय अधिकार कर्मचारी अनिवार्य रूप लेंगे । विकास खंड स्तरीय गोष्ठियों मेलो के सफल आयोजन के लिए उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जिम्मेदार होंगे।

 इन मेलों में क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों तथा  विधायक ,सांसद, ब्लाक प्रमुख , बीडीसी सदस्य, ग्राम प्रधान एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाए तथा मेला का उद्घाघाटन जनप्रतिनिधि से ही कराया जाए । नोडल अधिकारी मेला के उद्धघाटन हेतु  सांसद , विधायक को अपने स्तर से आमंत्रण पत्र भेजकर मेला के उद्धघाटन की कार्यवाही कराना सुनिश्चित करें।भमेंला के आयोजक विकास खंड के प्रभारी राजकीय कृषि बीज भंडार होंगे, जोकि मेला हेतु साउंड बैठने तथा कृषकों के लिए सूक्ष्म जलपान आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे ।

विकासखंड स्तरीय कृषि निवेश मेला में कृषि विभाग ,सहकारिता ,पीसीएस, यूपी एग्रो ,कृषि रक्षा ,पशुपालन ,ग्राम विकास विभाग ,उद्यान विभाग, वन ,विभाग पंचायती ,राज वैकल्पिक ऊर्जा ,नलकूप ,विद्युत ,मत्स्य, रेशम ,गन्ना ,खादी ग्रामोद्योग, अल्प बचत, जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं निजी कंपनियां आत्मा के समूह एनजीओ आदि के द्वारा अपना स्टॉल लगाया जाएगा एवं अपने विभाग से संबंधित सामग्री उपकरणों को कृषकों को प्रदर्शन एवं बिक्री हेतु उपलब्ध कराएंगे ।

विभिन्न विभाग निशुल्क उपलब्ध कराए जाने वाले कृषि निवेशको का वितरण भी इन्हें कृषि निवेश मेला में करेंगे ताकि किसानों को अनुदान का सीधा लाभ इन मेलों के माध्यम से प्राप्त हो सके। मेला में संबंधित विकास खंड के निजी निवेश आपूर्तिकर्ता को अपने से संबंधित निवेशक को बिक्री हेतु उपलब्ध कराएंगे ,इसके लिए जिला कृषि अधिकारी एवं जिला कृषि रक्षा अधिकारी पूर्व  रूप से जिम्मेदार होंगे ।

कृषकों द्वारा क्रय की गई सामग्री की रसीद अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराई जाए।  नोडल अधिकारी इन कृषि निवेश मेला में किसानों की मौखिक एवं लिखित शिकायतें प्राप्त करेंगे तथा इसका विवरण शिकायत कक्ष में रखी गई पंजिका में अंकित करेंगे। प्राप्त शिकायतों को संबंधित विभाग के प्रमुख अधिकारी यथासंभव निराकरण करेंगे ।

मेलो में समस्त विभाग अपने विभाग के प्रदत्त सुविधाओं के संबंध में पंपलेट एवं साहित्य आदि का प्रचार-प्रसार हेतु वितरण करेंगे । इन मेलों के मूल्यांकन तथा व्यवस्था की समीक्षा हेतु नामित किए गए नोडल अधिकारी मेला अवधि में पूरे समय वहां उपस्थित रहेंगे तथा मेला के उपरांत अपनी संकलित रिपोर्ट उप कृषि निदेशक फतेहपुर को उपलब्ध कराएंगे ।

कृषि निवेश मेला में अधिक से अधिक कृषको की भागीदारी हेतु खंड विकास अधिकारी, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जिम्मेदार होंगे । विकासखंड स्तरीय मेलों के आयोजन की सूची विकासखंड पर भी रखी जाए खंड विकास अधिकारी मेला में अपने विकासखंड के समस्त ग्राम प्रधानों को आमंत्रित करेंगे ।

जिलाधिकारी ने जनपद के सभी विकास खंडों में किसान गोष्ठी आयोजन का दिया निर्देश

    जिलाधिकारी  संजीव सिंह ने उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी फतेहपुर ,बिंदकी एवं खागा तथा समस्त खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि विकास खंड स्तरीय रबी गोष्ठी एवं कृषि निवेश मेले का आय

 उन्होंने बताया कि विकासखंड स्तरीय कृषि निवेश मेला में कृषि विभाग के तहसील स्तरीय एवं विकास खंड स्तरीय अधिकारी/कर्मचारी अनिवार्य रूप से भाग लेंगे । विकास खंड स्तरीय गोष्ठियों/मेलो के सफल आयोजन के लिए उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जिम्मेदार होंगे।

 इन मेलों में क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों तथा माननीय विधायक ,माननीय सांसद, माननीय ब्लाक प्रमुख , मा0बीडीसी सदस्य, ग्राम प्रधान एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाए तथा मेला का उद्घाघाटन माननीय जनप्रतिनिधि से ही कराया जाए । नोडल अधिकारी मेला के उद्धघाटन हेतु माननीय सांसद ,माननीय विधायक को अपने स्तर से आमंत्रण पत्र भेजकर मेला के उद्धघाटन की कार्यवाही कराना सुनिश्चित करेंगे । मेंला के आयोजक विकास खंड के प्रभारी राजकीय कृषि बीज भंडार होंगे, जोकि मेला हेतु साउंड बैठने तथा कृषकों के लिए सूक्ष्म जलपान आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे ।

विकासखंड स्तरीय कृषि निवेश मेला में कृषि विभाग ,सहकारिता ,पीसीएस, यूपी एग्रो ,कृषि रक्षा ,पशुपालन ,ग्राम विकास विभाग ,उद्यान विभाग, वन ,विभाग पंचायती ,राज वैकल्पिक ऊर्जा ,नलकूप ,विद्युत ,मत्स्य, रेशम ,गन्ना ,खादी ग्रामोद्योग, अल्प बचत, जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं निजी कंपनियां आत्मा के समूह एनजीओ आदि के द्वारा अपना स्टॉल लगाया जाएगा एवं अपने विभाग से संबंधित सामग्री उपकरणों को कृषकों को प्रदर्शन एवं बिक्री हेतु उपलब्ध कराएंगे ।

विभिन्न विभाग निशुल्क उपलब्ध कराए जाने वाले कृषि निवेशको का वितरण भी इन्हें कृषि निवेश मेला में करेंगे ताकि किसानों को अनुदान का सीधा लाभ इन मेलों के माध्यम से प्राप्त हो सके। मेला में संबंधित विकास खंड के निजी निवेश आपूर्तिकर्ता को अपने से संबंधित निवेशक को बिक्री हेतु उपलब्ध कराएंगे ,इसके लिए जिला कृषि अधिकारी एवं जिला कृषि रक्षा अधिकारी पूर्व  रूप से जिम्मेदार होंगे ।

कृषकों द्वारा क्रय की गई सामग्री की रसीद अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराई जाए।  नोडल अधिकारी इन कृषि निवेश मेला में किसानों की मौखिक एवं लिखित शिकायतें प्राप्त करेंगे तथा इसका विवरण शिकायत कक्ष में रखी गई पंजिका में अंकित करेंगे। प्राप्त शिकायतों को संबंधित विभाग के प्रमुख अधिकारी यथासंभव निराकरण करेंगे ।

मेलो में समस्त विभाग अपने विभाग के प्रदत्त सुविधाओं के संबंध में पंपलेट एवं साहित्य आदि का प्रचार-प्रसार हेतु वितरण करेंगे । इन मेलों के मूल्यांकन तथा व्यवस्था की समीक्षा हेतु नामित किए गए नोडल अधिकारी मेला अवधि में पूरे समय वहां उपस्थित रहेंगे तथा मेला के उपरांत अपनी संकलित रिपोर्ट उप कृषि निदेशक फतेहपुर को उपलब्ध कराएंगे ।

कृषि निवेश मेला में अधिक से अधिक कृषको की भागीदारी हेतु खंड विकास अधिकारी, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जिम्मेदार होंगे । विकासखंड स्तरीय मेलों के आयोजन की सूची विकासखंड पर भी रखी जाए खंड विकास अधिकारी मेला में अपने विकासखंड के समस्त ग्राम प्रधानों को आमंत्रित करेंगे ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां