मांगों को लेकर लेखपाल संघ ने किया धरना प्रदर्शन

                     धरने में बैठे लेखपाल

 फतेहपुर,26 नवम्बर।
मांग पूरी ना होने पर लेखपाल संघ द्वारा लगातार आंदोलन किया जा रहा है इसी के चलते मंगलवार को भी उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के आवाहन पर तहसील लेखपाल संघ इकाई द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया और चेतावनी दी गई कि यदि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो यह आंदोलन जारी रखा जाएगा ।
मांग पूरी ना होने को लेकर लेखपाल संघ द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नाराजगी जाहिर की गई।
             उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के आवाहन पर बिंदकी तहसील इकाई लेखपाल संघ द्वारा भी लगातार आंदोलन किया जा रहा है ।इसी के चलतेआज  मंगलवार को भी धरना प्रदर्शन किया गया।
 इस मौके पर बिंदकी तहसील इकाई के अध्यक्ष विरेंद्र सिंह ने कहा कि 8 सूत्री मांग के लिए 5 नवंबर से लगातार आंदोलन किया जा रहा है ।इसके बावजूद भी शासन से सहमती बन जाने के बाद भी शासनादेश निर्गत नहीं किया जा रहा है।
 उन्होंने चेतावनी दी कि जब तक उनकी सभी मांग पूरी नहीं होगी आंदोलन जारी रहेगा ।
इस मौके पर लेखपाल संघ तहसील बिंदकी इकाई के मंत्री अनुराग बाजपेई ने कहा उन लोगों की मांग को बार-बार नजरअंदाज किया जा रहा है ।ऐसी स्थिति में लेखपाल संघ के लोग चुप बैठने वाले नहीं हैं ,और आंदोलन करके उत्तर प्रदेश सरकार को मांग पूरी करने के लिए विवश करेंगे। इस मौके पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मपाल सिंह ने कहा लेखपाल का वेतन बढ़ाया जाए।

 कनिष्ठ उपाध्यक्ष अजीत कुमार वर्मा ने कहा राजस्व निरीक्षक के पदों में वृद्धि की जाए व राजस्व निरीक्षक व नायब तहसीलदार के पदों पर पदोन्नति की जाए साथ ही विभागीय परीक्षा के माध्यम से लेखपालों को प्रोन्नत के अधिक अवसर प्रदान किए जाएं ।
उप मंत्री सुनील कुमार ने कहा लेखपाल का नाम राजस्व उपनिरीक्षक किया जाए। यह मांग लंबे समय से की जा रही है। लेकिन अभी भी इस मामले में शासनादेश जारी नहीं किया गया है ।
कोषाध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि उन्हें पर्याप्त यात्रा भत्ता नहीं दिया जाता है। इसलिए सरकारी काम में परेशानी का सामना करना पड़ता है। और स्वयं का खर्चा उठाना पड़ता है ।लेखपाल संघ की इकाई के अन्य लोगों ने भी संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सभी मांगे पूरी की जाए। शासनादेश निर्गत किया जाए ताकि वह अपना आंदोलन समाप्त करें ।जिससे किसान मजदूर छात्र एवं शासन प्रशासन को किसी प्रकार की असुविधा ना होने पाए।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां