जहानाबाद में गायत्री महायज्ञ का तीसरा दिन एक युगल का विवाह धूमधाम के साथ सम्पन्न

                   रामतलाई की यज्ञ  मंडप में वर वधू

फतेहपुर, 29 नवम्बर।
जहानाबाद के राम तलाई मंदिर में 51 कुंडीय गायत्री महायज्ञ के तीसरे दिन महायज्ञ के साथ-साथ एक जोड़े का विवाह संस्कार धूमधाम से संपन्न हुआ ।
     मंदिर के पुजारी अवधेशानंद महाराज

 ने बताया कि विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी शांतिकुंज हरिद्वार के महात्माओं के द्वारा पांच दिवसीय 51 कुंडीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन का आज तीसरा दिन है ।जिसमें हरिद्वार के विद्वानों द्वारा प्रवचन किया जा रहा है।
पंडाल में मौजूद हजारों की संख्या में  भक्तगणों के बीच भक्ति की ऐसी बयार बही कि वे मंत्रमुग्ध हो गए ।
 आज महायज्ञ के बाद का मुख्य आकर्षण चिरंजीवी विश्राम सिंह उम्र लगभग 22 वर्ष पुत्र  रामनाथ  निवासी बचनी पुर थाना जहानाबाद जिला फतेहपुर एवं  आयुष्मती जयललिता उम्र लगभग 21 वर्ष पुत्री जयराम प्रसाद निवासी खपटिहा खुर्द  जिला बांदा का वैदिक मंत्रोचार एवं रस्मो रिवाज के बीच विवाह सम्पन्न हुआ।
 विवाह समारोह की संयोजिका श्रीमती रेनू बाजपेई पत्नी राजेश बाजपेई एवं श्रीमती उषा गुप्ता पत्नी  श्री राम गुप्ता निवासी  जहानाबाद ने


 नवविवाहित जोडे को  दो दो जोड़ी कपड़ों  के साथ स्टील की अलमारी, गद्दा, रजाई, कुर्सी, मेज, एवं दैनिक प्रयोग में आने वाले सामान कन्यादान के दौरान दिए गए ।ततपश्चात पियूष गुप्ता के सौजन्य से एक विशाल भंडारे का आयोजन किया गया ।जिसमें  पांडाल में उपस्थित सभी लोगों ने  भोजन किया और वर कन्या को सदा सुखी एवं चिरंजीवी भव का  आशीर्वाद दिया ।
इस अवसर पर गायत्री महायज्ञ की संयोजिका श्रीमती रूप रानी सोनकर ने बताया कि इस वर्ष गायत्री महायज्ञ का सत्रहवां वर्ष है और शांतिकुंज हरिद्वार के द्वारा 51 कुंडीय गायत्री महायज्ञ का शुभारंभ हुए दो दिन हो चुका है आज तीसरा दिन है और इस महायज्ञ में हजारों की संख्या में महिलाएं पुरुष एवं स्कूल के छात्र-छात्राएं भी सम्मिलित हो रहे हैं।
एक दिसंबर को सुबह से हवन की पूर्णाहुति दी जाएगी और इसी के साथ गायत्री महायज्ञ का समापन हो जाएगा।
 इस अवसर पर उन्होंने कस्बे वासियों से बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने और हरिद्वार के महात्माओं के द्वारा दिए गए प्रवचन रूपी अमृत का अपने दैनिक जीवन में आत्मसात कर लाभ उठाने के लिए अपील की।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां