जागरूक समाज दल

निसार हत्याकांड में थानाध्यक्ष हटे: पुलिस भूमिका की जांच शुरु


फतेहपुर, 11 नवम्बर। तीस अक्टूबर गाजीपुर थाना क्षेत्र के सिमौर गांव में  ससुराल आए युवक ने पत्नी को कुल्हाड़ी से काटकर जब भाग रहा था तभी ग्रामीणों ने उसे पीट पीटकर मार डाला था। घटना में स्थानीय पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाए जा रहे थे। इसी मामले को लेकर आईजी प्रयागराज ने सोमवार को थानाध्यक्ष का चार्ज छीन लिया।
सिमौर गांव में हुए दोहरे हत्याकांड से इलाके में सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने पत्नी अपसरी के हत्यारे मो० निसार के खिलाफ आत्महत्या कर लेने का मुकदमा अपसरी की बहन की तहरीर पर आनन फानन दर्ज कर लिया था। घटना के बाद सोशल मीडिया में वायरल हुए निसार के पीट पीटकर मार डालने से हडकंप मच गया था। जिस समय युवक की पिटाई हो रही थी सैकड़ो की भीड मौजूद थी। वायरल वीडियो में युवक की मौत का खुलासा होने पर पुलिस ने डेढ सौ अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर वीडियो से लोगो की पहचान कर पांच को जेल भेज दिया। थानाध्यक्ष संतोष तिवारी ने घटना को दबाने के प्रयास किया तो जांच पर प्रथम दृस्टया संदिग्ध कार्य प्रणाली को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक प्रयागराज ने थानाध्यक्ष संदीप तिवारी से थानाध्यक्षी छीन ली और घटना की जांच के आदेश जारी कर दिया।
 मामला तूल पकडता देखकर जिले के अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए और उन्होंने निसार की हत्या का मामला दर्ज कराकर कार्यवाही  शुरू कर दी। इसी के तहत वायरल वीडियो के आधार पर 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ किया गया मुकदमा दर्ज किया गया। इनमें से 5 लोगों की पहचान होने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मृतक निसार छत्तीसगढ़ का रहने वाला है। पुलिस  द्वारा की जा रही कार्रवाई से गांव के अधिकांश पुरुष गांव छोड़कर अन्यत्र रह रहे हैं और उन्हें जेल जाने का भय सता रहा है। इधर पुलिस वायरल वीडियो से अन्य लोगों की भी पहचान करा रही है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां