धान बिक्री करने वाले किसानों की भूमि का होगा सत्यापन


फतेहपुर, 11 नवम्बर। सौ क्विंटल से अधिक धान बेचने वाले किसानों की भूमि का सत्यापन होगा। शासन के निर्देश पर अपर जिलाधिकारी/नोडल अधिकारी ने सभी एसडीएम को पत्र जारी किया है। विपणन विभाग की वेबसाइट पर पंजीकृत कराने वाले बडे कास्तकारों का सत्यापन राजस्व कर्मी करेंगे।
 फतेहपुर जिले में धान खरीद के लिए 46 क्रय केंद्र खोले गए। एक नवम्बर से धान की खरीद शुरू हुई थी अभी कुछ ही क्रय केंद्र पर ही तौल शुरू हो सकी है। क्रय केंद्र के प्रभारियों का कहना है कि अधिकतर किसानों की फसल अभी खेत में है अथवा पूरी तरह से सूखी नहीं है। जिन वजहों से सभी केंद्रो में खरीद शुरू नहीं हो सकी। वहीं धान खरीद में पारदर्शिता लाने के लिए शासन ने जिला प्रशासन को पत्र भेज कर निर्देश जारी किए हैं। सौ क्विंटल से अधिक धान की बिक्री करने वाले किसानों की भूमि का सत्यापन कराया जाए। हर वर्ष क्रय केंद्रो पर माफिया हावी रहते है। इसमें अंकुश लगाने के लिए भूमि का सत्यापन कराया जा रहा है। धान खरीद का नोडल अधिकारी अपर जिलाधिकारी को बनाया गया।
 एडीएम पप्पू गुप्ता  सोमवार को बताया कि पंजीकरण का सत्यापन एसडीएम कर रहे हैं। किसान जब धान की बिक्री करने जाएंगे, तो वहां पंजीकृत नंबर फीड करते ही पता चल जाएगा कि सत्यापन हो गया है कि नहीं। उन्होंने बताया कि बिना सत्यापन के धान की तौल नहीं होगी।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां