फतेहपुर जिला कारागार में फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम 25 से


फतेहपुर,16 नवम्बर।जिले को फाइलेरिया मुक्त बनाने के लिए आगामी 25 नवम्बर से 10 दिसम्बर तक अभियान चलाया जाएगा। अभियान के तहत घर घर जाकर दवाईयां बाँटी जायेगी।
राष्ट्रीय मलेरिया मुक्त अभियान के तहत जनपद फतेहपुर में  25 से 10 दिसम्बर तक आई.डी, ए .एम.डी ए .2019 कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है ।जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर अपने सामने फैलेरिया रोधी औषधि जिसमें एल्बेंडाजोल डी.ई.सी के साथ-साथ आई वर मेक्टिन दवा खिलाएंगे। इस कार्यक्रम के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पी.सी.आई संस्था के सहयोग से दो कोर्डिनेटर  शुभम रस्तोगी एवं  अनूप दुबे अधिकृत किए गए हैं। अभियान को आगे बढ़ाते हुए आज  प्रातः 10:30 बजे से अधीक्षक जिला कारागार फतेहपुर द्वारा परिसर के अंदर विशाल बैठक की गई ।जिसमें सभी कैदी सभी कर्मचारी अधिकारी गण सम्मिलित हुए। जिसको अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी वेक्टर वार्न डॉक्टर के० के ०श्रीवास्तव के द्वारा संबोधित किया गया ।
अपने संबोधन में डॉ श्रीवास्तव ने बताया कि मात्र 2 साल साल में एक बार तीन तरह की गोलियां एक साथ खाकर फाईलेरिया से मुक्त हुआ जा सकता है।
 उन्होंने यह भी बताया कि जनपद में कुल 21 टीमों में में 350 सुपरवाइजर 25 नोडल अधिकारी मिलकर इस अभियान को सफल बनाएंगे ।जिसमें सभी लोगों को टीम के सामने दवा खानी होगी तथा इस दवा का सेवन खाली पेट नहीं करना है। गर्भवती महिलाएं बीमार व्यक्ति व 2 साल से कम उम्र के बच्चे उपरोक्त दवा का सेवन ना करें। आई वर मेक टीन नामक दवा का सेवन 5 साल से अधिक उम्र एवं 90 सेंटीमीटर या उसके ऊपर के व्यक्त ही करेंगे। इस बैठक में जिला मलेरिया अधिकारी कार्यालय से सहायक मलेरिया अधिकारी कीर्ति रंजन सम्मिलित हुए ।जिसमें पीसीआई  संस्था  के शुभम रस्तोगी ने सभी कैदियों को दवा खिलाने के लिए प्रेरित किया ।
कार्यक्रम में उपस्थित एफ सी ई ओ गायत्री गुप्ता ,कीर्ति रंजन , अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद की अध्यक्ष श्रीमती कविता रस्तोगी  व सखी फाउंडेशन की अध्यक्ष नमित सिंह व पीसीआई से शुभम रस्तोगी आदि लोग उपस्थित रहे।



जिला कारागार में फाइलेरिया उन्मूलन की बैठक में टीम के लोग

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां